पंचपरगानिया मसीही गीत

  • केउ यदि पाप करी..

  • जक्कई छिलो भ्रष्टाचारी...

  • अनन्त जीवन पावाय कोथा...

  • पौलुस केर सत्य वानी...

  • स्त्री आलक तखन आपन माया..

  • अनेक रकम दोष देखा..

  • सरग लोके गुड़ काथा...

  • सुनो मुख्य धनी करे अभिमानी...

  • प्रभु यीशु जाय घुरे...

  • मरियम मगदली दुइयो झने रबिबार बिहाने...

  • नाना प्रकारेक पापी जने...

  • प्रभु ईसु जाय घरे...

  • अंगुर बारी मालिक साझा रोपे...

  • देखे छिलेन सर्ब झन...

  • सम्राट अगस्तुस केर समराइजे...

  • चेइढ़ कहन लाउका उपरे...

  • आधा राइते संगी आय...